कोरोना का खतरा: बरेली, उत्त‍राखंड समेत सभी नवोदय स्कू‍लों के हॉस्टल बनेंगे अस्थाई अस्प‍ताल

न्‍यूज टुडे नेटवर्क
केंद्र सरकार ने कोरोना महामारी को देखते हुए नवोदय विद्यालयों में संक्रमित मरीजों के इलाज की मंजूरी दे दी है। मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने इसके लिए 645 नवोदय विद्यालयों के हॉस्टल में अस्थायी अस्पताल बनाने की मंजूरी दी है। सोमवार शाम तक 18 जिलों के जिलाधिकारी और स्वास्थ्य विभाग की टीम ने हॉस्टल में जाकर व्यवस्था का निरीक्षण किया।

ramesh pokhariyal

निशंक ने बताया कि मौजूदा स्थिति को देखते हुए नवोदय विद्यालय प्रशासन को निर्देश दिया है कि वे इस समय खाली छात्रावासों को संबंधित जिला प्रशासन को उपलब्ध करवा दें। उन्होंने कहा कि इस महामारी को नियंत्रित करने के लिए उनका मंत्रालय भी देश के साथ मजबूती से खड़ा है।

छात्रावासों में 2.7 लाख सीट उपलब्ध
इन आवासीय स्कूलों के हॉस्टल में कुल 2.7 लाख सीट हैं। इसमें मेस के अलावा अन्य जरूरी सुविधाएं उपलब्ध हैं। इन हॉस्टल को अस्थाई अस्पताल बनाया जाता है तो स्वास्थ्य विभाग को काफी मदद मिलेगी। ज्यादातर नवोदय विद्यालय शहर से हट कर हैं, ऐसे में इन अस्थाई अस्पतालों में आने वाले कोरोना पीड़ित जनता से दूर भी रह सकेेंगे।

Coronavirus vaccine) वैज्ञानिकों ने ढूँढ निकाला कोरोना का सबसे सस्ता इलाज, 100 रुपए में ऐसे होगा कोरोना की जाँच