केजरीवाल के संरक्षण में सत्येन्द्र जैन ने जेल को रिजॉर्ट बना डाला : मीनाक्षी लेखी

नई दिल्ली, 23 नवंबर (आईएएनएस)। केंद्रीय राज्य मंत्री मीनाक्षी लेखी ने कहा कि जैसे-जैसे जेल के अंदर से सत्येन्द्र जैन की वीडियो सामने आ रहे हैं, वैसे-वैसे लग रहा है कि अपराधिक छवि वाले कैसे राजनीति को बदनाम करते हैं। एक मंत्री जो अपने किए पर जेल में बंद होकर सजा काट रहा है, लेकिन उसे मंत्री पद से हटाने की जगह केजरीवाल उसे जेल के अंदर सारी सुख सुविधा दे रहे हैं।
 | 
केजरीवाल के संरक्षण में सत्येन्द्र जैन ने जेल को रिजॉर्ट बना डाला : मीनाक्षी लेखी नई दिल्ली, 23 नवंबर (आईएएनएस)। केंद्रीय राज्य मंत्री मीनाक्षी लेखी ने कहा कि जैसे-जैसे जेल के अंदर से सत्येन्द्र जैन की वीडियो सामने आ रहे हैं, वैसे-वैसे लग रहा है कि अपराधिक छवि वाले कैसे राजनीति को बदनाम करते हैं। एक मंत्री जो अपने किए पर जेल में बंद होकर सजा काट रहा है, लेकिन उसे मंत्री पद से हटाने की जगह केजरीवाल उसे जेल के अंदर सारी सुख सुविधा दे रहे हैं।

आगे उन्होंने बताया की भाजपा द्वारा आज एक और वीडियो जारी किया गया, जिसमें सत्येन्द्र जैन फल एवं ड्राई फ्रूट खाते हुए नजर आ रहे हैं। ऐसा किसी भी एंगल से नही लग रहा की वह जेल के अंदर बंद कैदी हैं, बल्कि ऐसा लग रहा है जैसे मंत्री किसी होटल में ठहरा हो और उसे सेवा दी जा रही है। कभी मसाज तो कभी नाश्ते में डाइटिशियन द्वारा बताए गए व्यजन, यह किसी भी जेल मैन्यूअल के खिलाफ है। जबकि आम आदमी पार्टी के नेता खुद को आम आदमी मानते हैं लेकिन हरकते बिल्कुल ही अलग है।

chaitanya

मीनाक्षी लेखी ने कहा कि यह वही आम आदमी पार्टी है जो पॉलटिक्स और राजनेताओं को अलग-अलग नाम देती रहती थी, लेकिन आज वहीं आम आदमी पार्टी नियम, कानून और संवैधानिक परिस्थितियों का ना सिर्फ मजाक बना रही है बल्कि जेल को रीजोर्ट समझ रखा है, जहां हर तरह की सुविधाएं उपलब्ध करवा रहे हैं। उन्होंने कहा कि केजरीवाल के कथनी और करनी बिल्कुल एक दूसरे के विपरित है।

मीनाक्षी लेखी ने कहा कि आज दिल्ली की यमुना केजरीवाल और उनके मंत्रियों के पाप धोते-धोते मैली हो गई है और केजरीवाल जो दूसरे राज्यों में जाकर अपनी झूठी तारीफ कर रहे हैं, लेकिन जिस दिल्ली ने उन्हें पहचान दी उन्हें सरकार में बैठाया, उसे वह भ्रष्टाचार का अड्डा मानते हैं। उन्होंने कहा कि दिल्लीवालों के लिए क्या किया है, इसके बारे में खुद दिल्लीवाले नहीं जानते लेकिन दूसरे राज्यों में वे इसका झूठा प्रचार कर रहे हैं।

--आईएएनएस

एमजीएच/एएनएम