कार्तव्य पथ का अपना पुलिस स्टेशन होगा

नई दिल्ली, 23 सितम्बर (आईएएनएस)। देश के सबसे सुरक्षित और संरक्षित क्षेत्रों में से एक कर्तव्य पथ में कानून और व्यवस्था बनाए रखने के लिए एक अलग पुलिस स्टेशन होगा। नए उद्घाटन किए गए सेंट्रल विस्टा कॉरिडोर का नाम बदलकर कार्तव्य पथ रखा गया है।
 | 
कार्तव्य पथ का अपना पुलिस स्टेशन होगा नई दिल्ली, 23 सितम्बर (आईएएनएस)। देश के सबसे सुरक्षित और संरक्षित क्षेत्रों में से एक कर्तव्य पथ में कानून और व्यवस्था बनाए रखने के लिए एक अलग पुलिस स्टेशन होगा। नए उद्घाटन किए गए सेंट्रल विस्टा कॉरिडोर का नाम बदलकर कार्तव्य पथ रखा गया है।

पुलिस थाना नई दिल्ली जिले के अधिकार क्षेत्र में आएगा, जिसमें पहले से ही 11 पुलिस स्टेशन हैं और जिले में कार्तव्य पथ पुलिस स्टेशन 12 वां होगा।

एक सरकारी अधिसूचना के अनुसार, जिन स्थानीय क्षेत्रों को क्रमश: पुलिस स्टेशन तिलक मार्ग, साउथ एवेन्यू और पार्लियामेंट स्ट्रीट के अधिकार क्षेत्र से बाहर रखा गया है, वे अब से इस क्षेत्र को कवर करेंगे।

chaitanya

कर्तव्य पथ थाने के अधिकार क्षेत्र की उत्तरी सीमा में नॉर्थ ब्लॉक, रेल भवन (अनन्य) रायसीना रोड, कृषि भवन, आईएनजीसीए (समावेशी) डॉ राजेंद्र प्रसाद, जेएसआर राउंडअबाउट (आर/ए) होगा।

दक्षिण में थाने के अधिकार क्षेत्र की सीमा में मान सिंह राउंडअबाउट, वी.पी. हाउस, विज्ञान भवन, राष्ट्रीय संग्रहालय, निर्माण भवन, उद्योग भवन राउंडअबाउट (आर / ए) जिसमें सुनहरी बाग मस्जिद भी शामिल है। रक्षा भवन (समावेशी) अशोक रोड, सी-हेक्सागोन अकबर रोड तक, वनज्य भवन (समावेशी) अकबर रोड, सी- नेशनल स्टेडियम (समावेशी) के साथ हेक्सागोन कार्तव्य पथ पुलिस स्टेशन की पूर्वी सीमा होगी और उत्तर और दक्षिण ब्लॉक, पश्चिम सीमा दीवार (अनन्य) रोड आरपी भवन की ओर पश्चिमी तरफ इसकी अधिकार क्षेत्र सीमा होगी।

नवीनीकृत सेंट्रल विस्टा एवेन्यू को दिया गया नया नाम कर्तव्य पथ का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 8 सितंबर को किया था।

सेंट्रल विस्टा एवेन्यू में राजपथ और इंडिया गेट लॉन शामिल हैं। जबकि सेंट्रल विस्टा एवेन्यू जैसा कोई आधिकारिक नाम नहीं था, सूत्रों ने दावा किया कि इसे सेंट्रल विस्टा पुनर्विकास योजना के हिस्से के रूप में एक परियोजना के रूप में अवधारणाबद्ध किया गया था।

पुनर्निर्मित सेंट्रल विस्टा कॉरिडोर में कार्तव्य पथ के दोनों किनारों पर फिर से बिछाए गए लॉन हैं।

इंडिया गेट से सटे लॉन में स्थित जल निकायों पर नए पॉप-अप फव्वारे लगाए गए हैं।

इसके अलावा कार्तव्य पथ के दोनों ओर चार अंडर पास बनाए गए हैं जो जनसुविधाओं से युक्त हैं।

साथ ही इंडिया गेट के लॉन पर पैदल चलने वालों की सुविधा के लिए जलस्रोतों पर पुलों के साथ रास्ते बनाए गए हैं।

इंडिया गेट लॉन पर सांस्कृतिक गतिविधियों के मंचन की अनुमति देने के लिए प्लाजा भी बनाए गए हैं।

--आईएएनएस

आरएचए/