कांग्रेस का आतंकवाद से संबंध रहा है : कर्नाटक भाजपा

बेंगलुरू, 25 जनवरी (आईएएनएस)। कर्नाटक में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने बुधवार को आरोप लगाया कि कांग्रेस का आतंकवाद से संबंध रखने का इतिहास रहा है।
 | 
बेंगलुरू, 25 जनवरी (आईएएनएस)। कर्नाटक में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने बुधवार को आरोप लगाया कि कांग्रेस का आतंकवाद से संबंध रखने का इतिहास रहा है।

विपक्ष के नेता सिद्दारमैया ने हाल में दावा किया कि कांग्रेस आतंकवाद के सभी रूपों का विरोध करती है। इस पर सोशल मीडिया पोस्ट की एक श्रृंखला में बीजेपी की ओर से यह प्रतिक्रिया आई है।

बीजेपी ने सवाल किया, सिद्दारमैया का दावा है कि पूर्व दिवंगत प्रधानमंत्रियों इंदिरा गांधी और राजीव गांधी ने आतंकवाद से लड़ने के लिए अपने जीवन का बलिदान दिया। हालांकि, आतंकवाद किसने शुरू किया और इसका उद्देश्य क्या था?

बीजेपी ने कहा कि इंदिरा गांधी ने राजनीति के लिए भिंडरावाले (जरनैल सिंह भिंडरावाले) का इस्तेमाल किया। यह दुर्भाग्यपूर्ण था कि उन्हें अपने द्वारा तैयार किए गए खालिस्तान विद्रोही को समाप्त करने के लिए अमृतसर के स्वर्ण मंदिर में सेना भेजनी पड़ी। कांग्रेस भूल गई है कि भद्दी राजनीति से भद्दे हालात पैदा होंगे।

chaitanya

बीजेपी ने कांग्रेस से सवाल किया कि सिख समुदाय ने इंदिरा गांधी का विरोध किया, इसलिए कि पहले भिंडरावाले को आगे बढ़ने दिया गया और फिर उसे खत्म कर दिया गया। इस कीमत इंदिरा गांधी को अपनी जान देकर चुकानी पड़ी। लेकिन, इंदिरा गांधी की हत्या के बाद सिखों के नरसंहार के लिए कौन जिम्मेदार है?

chaitanya

उन्होंने आरोप लगाया, हमारे एक और प्रधानमंत्री लिट्टे द्वारा मारे गए। हालांकि, जब तथ्यों को सत्यापित किया जाता है कि लिट्टे का समर्थन किसने किया, तो उंगलियां कांग्रेस पार्टी की ओर ही उठेंगी। किसने लिट्टे के प्रभाकरन का समर्थन किया और बढ़ने में मदद की? कांग्रेस को यह सब समझना चाहिए।

बीजेपी ने कहा, विद्रोही समूहों को मजबूत करके इंदिरा गांधी पड़ोसी देशों पर नियंत्रण करना चाहती थीं। यह उनकी गणना थी कि यदि लिट्टे श्रीलंका में मजबूत है, तो इससे देश को नियंत्रित करने में मदद मिलेगी। लिट्टे के सदस्यों को भारत के क्षेत्र के अंदर बुलाया गया और उन्हें प्रशिक्षित किया गया।

भगवा पार्टी ने कहा, जब भी श्रीलंकाई सेना ने लिट्टे पर हमला किया, तो हथियारों की आपूर्ति की गई और भारत से कैडर को चिकित्सा उपचार दिया गया। कांग्रेस को सारी जानकारी दी गई। सिद्दारमैया, जिस कांग्रेस पार्टी में आप हैं, उसका आतंकवाद के साथ सांठगांठ है।

पार्टी ने आगे कहा, कांग्रेस का आतंकवाद से सांठगांठ करने का इतिहास रहा है, जैसे एक जहरीले सांप के साथ शतरंज खेलना। दुर्भाग्य से इसके बाद राजीव गांधी की हत्या कर दी गई।

भाजपा ने कहा, सिद्दारमैया, जब यह हुआ, तब आप कांग्रेस पार्टी में नहीं थे। डी.के. शिवकुमार (कर्नाटक राज्य कांग्रेस अध्यक्ष) ने आपको इन सभी घटनाक्रमों के बारे में सूचित नहीं किया होगा। इसलिए हम आपको यह सब बता रहे हैं।

--आईएएनएस

पीके/एसकेपी