ओडिशा सरकार ने विधानसभा में 16,800 करोड़ रुपये का पहला अतिरिक्त बजट पेश किया

भुवनेश्वर, 24 नवंबर (आईएएनएस)। ओडिशा सरकार ने शीतकालीन सत्र के दौरान राज्य विधानसभा में वर्ष 2022-23 के लिए 16,800 करोड़ रुपये का पहला अतिरिक्त बजट पेश किया है। वित्त मंत्री के अनुपस्थित होने के कारण यह बजट वन एवं पर्यावरण मंत्री प्रदीप कुमार अमात ने विधानसभा में पेश किया है।
 | 
ओडिशा सरकार ने विधानसभा में 16,800 करोड़ रुपये का पहला अतिरिक्त बजट पेश किया भुवनेश्वर, 24 नवंबर (आईएएनएस)। ओडिशा सरकार ने शीतकालीन सत्र के दौरान राज्य विधानसभा में वर्ष 2022-23 के लिए 16,800 करोड़ रुपये का पहला अतिरिक्त बजट पेश किया है। वित्त मंत्री के अनुपस्थित होने के कारण यह बजट वन एवं पर्यावरण मंत्री प्रदीप कुमार अमात ने विधानसभा में पेश किया है।

कुल अतिरिक्त बजट में से 9 हजार 200 करोड़ रुपये कार्यक्रम व्यय, 4 हजार 934 करोड़ रुपये प्रशासनिक व्यय, 2610.46 करोड़ रुपये आपदा प्रबंधन कोष और 55.54 करोड़ रुपये स्थानीय निकायों पंचायती राज संस्थाओं और शहरी स्थानीय निकायों को हस्तांतरित करने के लिए आवंटित किए गए हैं।

chaitanya

रिपोर्ट के अनुसार, 4 हजार 934 करोड़ रुपये के प्रशासनिक व्यय में से 3 हजार 700 करोड़ रुपये बजट स्थिरीकरण फंड में ट्रांसफर करने के लिए प्रदान किए गए हैं और ग्राम पंचायतों द्वारा स्कूलों और प्राथमिक स्वास्थ्य देखभाल केंद्रों के रखरखाव के लिए 173 करोड़ रुपये की व्यवस्था की गई है।

राज्य सरकार ने आपदा के कारण 2021 में खरीफ की फसल नुकसान से प्रभावित किसानों की मदद के लिए 200 करोड़ रुपये आवंटित किए हैं। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने हाल ही में पदमपुर उपचुनाव को ध्यान में रखते हुए सूखाग्रस्त किसानों के लिए मदद का ऐलान किया है।

कार्यक्रम व्यय के तहत किए गए 9 हजार 200 करोड़ रुपये में से 2 हजार 84 करोड़ रुपये शिक्षा, खेल और कौशल विकास क्षेत्र के लिए आवंटित किए गए हैं। इसके अलावा 867 करोड़ रुपये सार्वजनिक स्वास्थ्य देखभाल, 782 करोड़ रुपये शहरी विकास और 128 करोड़ रुपये संस्कृति और पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए आवंटित किए गए हैं। इसी तरह, ऊर्जा, आईटी, कॉमर्स, परिवहन और अनुसंधान एवं विकास क्षेत्रों को मिलाकर 388 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं।

सरकार ने ग्रामीण आवास, मजदूरी रोजगार, पेयजल की व्यवस्था और ग्रामीण बुनियादी ढांचे के लिए 552 करोड़ रुपये की व्यवस्था की है। आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि इससे आर्थिक विकास को बढ़ावा देने में मदद मिलेगी। गौरतलब है कि 2021-22 में राज्य का अतिरिक्त बजट 19,833 करोड़ रुपये था।

--आईएएनएस

एफजेड/एएनएम