ओडिशा के सीएम ने एनीमिया को खत्म करने के लिए एएमएलएएन अभियान शुरू किया

भुवनेश्वर, 23 नवंबर (आईएएनएस)। ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने बुधवार को राज्य से एनीमिया को खत्म करने के लिए एनिमिया मुक्त लक्ष्य अभियान (एएमएलएएन) शुरू किया है। यह अभियान टारगेट समूहों के बीच एनीमिया की तत्काल कमी के लिए एक बहु-आयामी दृष्टिकोण है।
 | 
ओडिशा के सीएम ने एनीमिया को खत्म करने के लिए एएमएलएएन अभियान शुरू किया भुवनेश्वर, 23 नवंबर (आईएएनएस)। ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने बुधवार को राज्य से एनीमिया को खत्म करने के लिए एनिमिया मुक्त लक्ष्य अभियान (एएमएलएएन) शुरू किया है। यह अभियान टारगेट समूहों के बीच एनीमिया की तत्काल कमी के लिए एक बहु-आयामी दृष्टिकोण है।

ओडिशा के मुख्यमंत्री ने वर्चुअल मंच से कार्यक्रम की शुरुआत करते हुए कहा कि राज्य से एनीमिया को खत्म करने के लिए इस अभियान की शुरुआत की गई है। ज्यादातर महिलाएं और बच्चे इसकी चपेट में आते हैं। ये एनीमिया से मुक्त हो सकेंगे।

सीएम ने बताया कि यह कार्यक्रम स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, स्कूल एवं जन शिक्षा, महिला एवं बाल विकास, मिशन शक्ति और एसटी एवं एससी विकास समेत कई विभागों के द्वारा चलाया जाएगा।

chaitanya

इस कार्यक्रम से लगभग 1.37 करोड़ लोगों को लाभ होगा, जिसमें गर्भवती महिलाएं, स्तनपान कराने वाली माताएं, प्रजनन आयु वर्ग की महिलाएं, किशोर और बच्चे आदि शामिल हैं। सीएम नवीन पटनायक ने आगे कहा, कार्यक्रम के तहत आयरन और फोलिक एसिड सप्लीमेंट को मजबूत करना, हीमोग्लोबिन के लिए टेस्ट करना, एनीमिक मामलों का उपचार करना और सामाजिक व्यवहार परिवर्तन संचार करना शामिल है।

यह कार्यक्रम राज्य भर के 55 हजार सरकारी और सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों और 74 हजार आंगनवाड़ी केंद्रों में शुरू किया जाएगा। मुख्यमंत्री का कहना है कि हमारी सभी कोशिशें इस सिद्धांत पर केंद्रित हैं कि हर जीवन कीमती है। सरकार ने राज्य में स्वास्थ्य क्षेत्र के विकास को प्राथमिकता दी है। सीएम ने आगे कहा कि पूरे देश में एनीमिया एक प्रमुख सार्वजनिक स्वास्थ्य चुनौती बनी हुई है।

मुख्यमंत्री ने ओडिशा को एनीमिया मुक्त के उद्देश्य से एएमएलएएन को सफलतापूर्वक लागू करने के लिए संबंधित विभागों और ऑन-फील्ड सेवा प्रदाताओं से ठोस तरीके से काम करने का अनुरोध किया है।

इस मौके पर पटनायक ने एएमएलएएन के लिए कार्य संबंधी दिशानिर्देश भी जारी किए हैं।

--आईएएनएस

एफजेड/एसजीके