एमसीडी की जीत की चाबी है दक्षिण दिल्ली के पास

नई दिल्ली, 24 नवंबर (आईएएनएस)। तीनों एमसीडी के एकीकरण के बाद पहली बार नगर निगम चुनाव हो रहे हैं। दिल्ली नगर निगम में दक्षिण दिल्ली के क्षेत्र के चारों जोन (सेंट्रल, साउथ, वेस्ट, नजफगढ़) को मिलाकर नगर निगम के 112 वार्ड हैं। दक्षिण दिल्ली का सबसे बड़ा वार्ड नंबर 151 मुनिरका वार्ड है और दक्षिण दिल्ली के आर के पुरम की तीनों सीटों पर पूर्वांचलियों के वोटों की संख्या अधिक है।
 | 
एमसीडी की जीत की चाबी है दक्षिण दिल्ली के पास नई दिल्ली, 24 नवंबर (आईएएनएस)। तीनों एमसीडी के एकीकरण के बाद पहली बार नगर निगम चुनाव हो रहे हैं। दिल्ली नगर निगम में दक्षिण दिल्ली के क्षेत्र के चारों जोन (सेंट्रल, साउथ, वेस्ट, नजफगढ़) को मिलाकर नगर निगम के 112 वार्ड हैं। दक्षिण दिल्ली का सबसे बड़ा वार्ड नंबर 151 मुनिरका वार्ड है और दक्षिण दिल्ली के आर के पुरम की तीनों सीटों पर पूर्वांचलियों के वोटों की संख्या अधिक है।

वैसे तो दक्षिण दिल्ली में दिल्ली के लोकल और दिल्ली के बाहरी दोनों तरह के लोग निवास करते हैं और एक बड़ा बुद्धिजीवी वर्ग भी यहां रहता है। दक्षिण दिल्ली का अधिकतर क्षेत्र पॉश क्षेत्र भी है। हर लिहाज से दक्षिण दिल्ली नगर निगम सभी राजनीतिक दलों के लिए एक खास महत्व रखता है। जो राजनीतिक दल दक्षिण दिल्ली से अधिक से अधिक सीटों पर जीत दर्ज करेगा तो नगर निगम की सत्ता उसकी हो सकती है।

chaitanya

पिछले नगर निगम चुनाव में राजनीतिक दल बीजेपी को सर्वाधिक सीटें साउथ दिल्ली से ही मिली थी। दक्षिण दिल्ली की 104 सीटों में 70 सीटें बीजेपी को मिली थी। आम आदमी पार्टी को 16 सीटें और कांग्रेस को सिर्फ 12 सीटें ही मिली थी। पूर्व चुनाव में भी दक्षिण दिल्ली बीजेपी को निगम की सत्ता में जीत दिलाने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी और इस बार भी राजनीतिक विश्लेषण करने वाले बताते हैं कि दक्षिण दिल्ली में जो राजनीतिक दल सर्वाधिक सीटें जीत लेगा नगर निगम की सत्ता में वह दल आसानी से आ सकता है।

दक्षिण दिल्ली में बहुत सी सीटों पर आम आदमी पार्टी और भारतीय जनता पार्टी के बीच सीधा सीधा मुकाबला है और कई सीटों पर भारतीय जनता पार्टी की ही जीत निश्चित है। दक्षिण दिल्ली के आरके पुरम विधानसभा में 3 वार्ड हैं। वार्ड 153 वसंत विहार महिला वार्ड है और वार्ड 152 आरके पुरम सामान्य वार्ड है और वार्ड 151 मुनिरका महिला वार्ड है। यह वार्ड दक्षिण दिल्ली का सबसे बड़ा वार्ड है। मुनिरका वार्ड में लगभग 75,000 वोट हैं जिसमें 40,000 वोट लोकल जाट वोट है और 35,000 पूर्वांचलियों के हैं।

वहीं दक्षिण दिल्ली में मालवीय नगर विधानसभा में 3 वार्ड हैं। वार्ड 148 हौज खास सामान्य वार्ड है, इस वार्ड से आम आदमी पार्टी के कमल भारद्वाज प्रत्याशी हैं और भारतीय जनता पार्टी की सुमित्रा दहिया प्रत्याशी हैं। पवन वशिष्ट कांग्रेस के प्रत्याशी हैं, लेकिन इस वार्ड में भी कमल भारद्वाज और सुमित्रा दहिया के बीच ही मुकाबला माना जा रहा है।

महरौली विधानसभा के वार्ड नंबर 154 लाडो सराय सामान्य वार्ड है। इस वार्ड में भारतीय जनता पार्टी के प्रवेश सेजवाल और आम आदमी पार्टी के राजीव चौधरी के बीच मुकाबला है।

दक्षिण दिल्ली में भी ज्यादातर सीटों पर भारतीय जनता पार्टी और आम आदमी पार्टी के बीच मुकाबला है लेकिन राजनीतिक विश्लेषण करने वाले और सूत्र बताते हैं कि दक्षिण दिल्ली में भारतीय जनता पार्टी का वोट बैंक अच्छा है और वह अच्छी सीटें दक्षिण दिल्ली में लेकर आने वाली है।

अब यह तो समय ही बताएगा कि दिल्ली नगर निगम की सत्ता की चाबी किस राजनीतिक दल के हाथ लगती है।

--आईएएनएस

एमजीएच