एनआईए ने हिजबुल मुजाहिदीन के ओवरग्राउंड वर्कर के खिलाफ सप्लीमेंट्री चार्जशीट दाखिल की

नई दिल्ली, 25 नवंबर (आईएएनएस)। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने शुक्रवार को उत्तर प्रदेश और देश में अन्य हिस्सों के विभिन्न स्थानों पर हिजबुल मुजाहिदीन सदस्यों द्वारा आतंकी हमलों को अंजाम देने के लिए रची गई आपराधिक साजिश से संबंधित एक मामले में सप्लीमेंट्री चार्जशीट दाखिल की है।
 | 
एनआईए ने हिजबुल मुजाहिदीन के ओवरग्राउंड वर्कर के खिलाफ सप्लीमेंट्री चार्जशीट दाखिल की नई दिल्ली, 25 नवंबर (आईएएनएस)। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने शुक्रवार को उत्तर प्रदेश और देश में अन्य हिस्सों के विभिन्न स्थानों पर हिजबुल मुजाहिदीन सदस्यों द्वारा आतंकी हमलों को अंजाम देने के लिए रची गई आपराधिक साजिश से संबंधित एक मामले में सप्लीमेंट्री चार्जशीट दाखिल की है।

रिपोर्ट के अनुसार, पहले ये मामला शुरुआत मेंं लखनऊ में दर्ज किया गया था और बाद में एनआईए ने इस मामले की जांच को अपने हाथ में ले ली। एनआईए ने आईपीसी की धारा 120 बी और गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम की धारा 17, 18 और 38 के तहत जम्मू-कश्मीर के किश्तवाड़ जिले के दानिश नसीर के खिलाफ चार्जशीट दायर की है।

chaitanya

जांच में सामने आया है कि दानिश नसीर हिजबुल मुजाहिदीन के लिए एक ओवरग्राउंड वर्कर के रूप में काम कर रहा था। दानिश नसीर आतंकी संगठन के आतंकवादियों को पनाह देने के अलावा सभी प्रकार की सहायता भी प्रदान कर रहा था। ऐसा बताया जा रहा है कि उसने जानबूझकर हजबुल मुजाहिदीन आतंकवादी कमरूज जमान की मदद भी की थी।

एनआईए ने कहा कि दानिश नसीर ने हजबुल मुजाहिदीन की आतंकवादी गतिविधियों को आगे बढ़ाने के लिए गिरफ्तार आरोपी कामरुज जमान को 30 हजार रुपये भी ट्रांसफर किए थे।

--आईएएनएस

एफजेड/एएनएम