inspace haldwani
inspace haldwani
Home उत्तरप्रदेश इन कर्मचारियों को ₹15090 की जगह दिए जा रहे सिर्फ ₹5000, हक...

इन कर्मचारियों को ₹15090 की जगह दिए जा रहे सिर्फ ₹5000, हक की लड़ाई के लिए किया ये काम

जानिए, बरेली में कुम्भकारों के हाल सुधारने को क्या बोले माटीकला बोर्ड के अध्यक्ष

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। बरेली में माटीकला से जुड़े कामगारों , कुम्‍भकारों और शिल्‍पकारों के हालात सुधारने के लिए प्रदेश सरकार बेहतर काम कर रही...

बरेली में 421 युवा बने शिक्षक, नियुक्ति पत्र पाकर खिले चेहरे

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। 37723 भर्ती में आज शनिवार को 421 शिक्षकों को नियुक्ति पत्र बांटे गए। संजय कम्युनिटी हॉल में हुए कार्यक्रम में केंद्रीय...

बरेली: छह दिसंबर के मद्देनजर बहेड़ी कस्‍बे में फ़्लैग मार्च, बिना मास्‍क मिले दर्जन भर पर कार्रवाई

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। बरेली जिले के बहेड़ी में आगामी छह दिसंबर को शांति व्‍यवस्‍था बनाए रखने को लेकर शनिवार को बहेड़ी में फोर्स ने...

पीलीभीत: व्यापारियों से अभद्रता करना ईओ को पड़ा महंगा, व्यापारी भड़के धरना शुरू

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। पीलीभीत जिले की बीसलपुर तहसील में स्‍थित बिलसंडा नगर पंचायत ईओ को व्‍यापारियों से अभद्रता करना भारी पड़ गया। व्‍यापारियों ने...

संभल: बाइक में बेकाबू स्कार्पियों ने मारी टक्कर,एक की मौत, तीन छात्र घायल

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के संभसल जिले में एक गांव से टयूशन पढने आ रहे छात्रों की खडी बाईकों में बेकाबू स्कार्पियों ने टक्कर...

Bareilly: रेलवे (Railway) सफाई कर्मचारियों का लगातार 3 साल से शोषण हो रहा है। जिसका सब रब टूट गया है। पिछले 3 दिन से सफाई कर्मचारी धरने पर बैठे हैं। लेकिन अभी तक किसी भी प्रकार की सुनवाई नहीं हुई है। जानकारी के मुताबिक इन कर्मचारियों को 15090 रुपए के वेतन (salary) में सिर्फ ₹5000 दे दिए जाते हैं। इसका विरोध करने पर उन्हें नौकरी से निकाल ले जाने की धमकी दी जाती है।
railway workersकर्मचारियों का कहना है कि इनके हर महीने का 18 सौ रुपए का पीएफ (provident fund) भी ₹300 देकर मुंह बंद करा दिया जाता है। साथ ही सरकार से दिए जाने वाले प्रतिमाह के चार अवकाश (holiday) का भी पैसा इनके सुपरवाइजर (supervisor) काट लेते हैं। जिस कारण कर्मचारी अपने पूरे वेतन की मांग के लिए धरना प्रदर्शन कर रहे हैं।

पत्रकारों के पूछने पर रेलवे अधिकारियों ने अपना पल्ला झाड़ लिया है। सफाई कर्मचारियों की केंद्र सरकार और राज्य सरकार से मांग है कि इस पर कठोर से कठोर कार्रवाई की जाए। और बेईमान कंपनियों (companies) को ठेका (tender) न देकर ईमानदार कंपनियों को ठेका दिया जाए। जिससे कम से कम पूरे दिन मजदूरी कर रहे मजदूरों को उनका पूरा वेतन और पीएफ समय पर मिल सके।

Related News

जानिए, बरेली में कुम्भकारों के हाल सुधारने को क्या बोले माटीकला बोर्ड के अध्यक्ष

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। बरेली में माटीकला से जुड़े कामगारों , कुम्‍भकारों और शिल्‍पकारों के हालात सुधारने के लिए प्रदेश सरकार बेहतर काम कर रही...

बरेली में 421 युवा बने शिक्षक, नियुक्ति पत्र पाकर खिले चेहरे

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। 37723 भर्ती में आज शनिवार को 421 शिक्षकों को नियुक्ति पत्र बांटे गए। संजय कम्युनिटी हॉल में हुए कार्यक्रम में केंद्रीय...

बरेली: छह दिसंबर के मद्देनजर बहेड़ी कस्‍बे में फ़्लैग मार्च, बिना मास्‍क मिले दर्जन भर पर कार्रवाई

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। बरेली जिले के बहेड़ी में आगामी छह दिसंबर को शांति व्‍यवस्‍था बनाए रखने को लेकर शनिवार को बहेड़ी में फोर्स ने...

पीलीभीत: व्यापारियों से अभद्रता करना ईओ को पड़ा महंगा, व्यापारी भड़के धरना शुरू

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। पीलीभीत जिले की बीसलपुर तहसील में स्‍थित बिलसंडा नगर पंचायत ईओ को व्‍यापारियों से अभद्रता करना भारी पड़ गया। व्‍यापारियों ने...

संभल: बाइक में बेकाबू स्कार्पियों ने मारी टक्कर,एक की मौत, तीन छात्र घायल

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के संभसल जिले में एक गांव से टयूशन पढने आ रहे छात्रों की खडी बाईकों में बेकाबू स्कार्पियों ने टक्कर...

अगर दस हजार से अधिक है बिजली बकाया तो हो सकता है घर में अंधेरा, देखें यह खबर…

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। आपके घर पर अगर नॉन स्मार्ट मीटर लगा हैं तो ये खबर आपके लिए हैं। बिल बकाए पर आपको खास ध्यान...