inspace haldwani
Home Uncategorized आर-पार: सिंधु बार्डर पर पथराव के बाद दिल्ली में घुसा किसान आंदोलन,...

आर-पार: सिंधु बार्डर पर पथराव के बाद दिल्ली में घुसा किसान आंदोलन, फौज व सरकार झुकी, देखें यह खबर…

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। दिल्‍ली में किसानों के आंदोलन को रोकने की सरकार की सारी कोशिशें बेअसर हो गई हैं। हालात लगातार बेकाबू होते जा रहे हैं। सरकार की तानाशाह रणनीति और फोर्स की सख्‍ती से किसानों का गुस्‍सा बढ़ता जा रहा है। किसान नेताओं का कहना है कि ऐसा लग रहा है जैसे कि वे अपने ही देश में आतंकवादी करार दे दिए गए हों।

आखिरकार किसानों को दिल्‍ली में प्रवेश की इजाजत देने के साथ सरकार को किसान शक्‍ति के आगे झुकना पड़ा। हरियाणा पंजाब से दिल्‍ली तक कई स्‍थानों पर पथराव होना शुरू हो गया था। पुलिस बलों ने गुरूवार और शुक्रवार को किसानों को आठ बार रोकने की कोशिश की लेकिन सभी कोशिशें नाकाम साबित हुईं। अन्‍त में किसानों को दिल्‍ली में प्रवेश करने की इजाजत दे दी गई। सिंधु बार्डर पर कुछ देर पहले ही किसानों की ओर जबर्दस्‍त पथराव किया गया। जिसके बाद पुलिस के वरिष्‍ठ आला अफसरों के आदेश पर फोर्स को पीछे हटने के निर्देश दे दिए गए।

केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का आंदोलन दिल्ली की सीमा में प्रवेश कर गया। आखिरकार सरकार को झुकना पड़ा और किसानों को दिल्ली में एंट्री की इजाजत दे दी है। हालांकि, सिंघु बॉर्डर पर अभी भी तनाव बना हुआ है। यहां हरियाणा और पंजाब के किसान बड़ी तादाद में जमे हुए हैं। बीच-बीच में पथराव भी हो रहा है।

सिंघु बॉर्डर पर दिल्ली पुलिस ने तीन लेयर में बैरिकेडिंग कर रखी थी। सबसे आगे कंटीले तार थे। फिर ट्रकों को बैरिकेड की तरह लगाया गया। आखिर में वाटर कैनन तैनात थी। इतने इंतजाम भी किसानों को नहीं रोक पाए। पंजाब-हरियाणा बॉर्डर से दिल्ली बॉर्डर तक तीन राज्यों की पुलिस ने 8 बार बड़ी नाकेबंदी कर किसानों को रोकने की कोशिश की, लेकिन किसान हर बार ट्रैक्टर के सहारे आगे बढ़ते गए।

सिंघु बॉर्डर पर बड़ी तादाद में जमा हुए किसान
किसानों को दिल्ली के सिंघु बॉर्डर पर रोक गया। यहां वे बड़ी तादाद में ट्रैक्टर पर सवार होकर पहुंचे थे। पुलिस ने यहां आंसू गैस छोड़ी। कुछ देर पथराव भी हुआ। किसान दिल्ली में घुसने के लिए अड़े हुए थे। कुछ किसान वहीं धरने पर बैठ गए और खाना बनाने लगे। किसानों का कहना था कि हम शांति से प्रदर्शन कर रहे हैं। इसे जारी रखते हुए हम दिल्ली में एंट्री करेंगे। लोकतंत्र में प्रदर्शन की इजाजत होनी चाहिए।

Related News

नार्वे में कोरोना वैक्सीन लगवाने के बाद 23 की मौत, मरने वालों में सबसे ज्यादा बुजुर्ग

न्यूज टुडे नेटवर्क। नॉर्वे में वैक्सीन लगाने वाले 30 लोगों की अब तक जान जा चुकी है। इनमें से ज्यादातर लोग बुजुर्ग हैं। नार्वे...

बरेलीः पिता ने ऐसा क्या किया कि उसकी बेटी-दामाद हुए बेघर, पुलिस के पास पहुंचा मामला

न्यूज टुडे नेटवर्क। एक पिता ने अपनी विवाहिता दमाद को घर जमाई बनाने के लिए ससुराल से अपने घर बुला लिया। दामाद ने मेहनत...

अब नानकमत्ता का सिपाही निकला कोरोना पॉजिटिव

राजीव कुमार सक्सेना नानकमत्ता: थाने में तैनात उप निरीक्षक की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आने के बाद मेडिकल टीम द्वारा की गई जांच में एक सिपाही...

बरेली: 16 जनवरी को अस्‍पतालों में इस तरीके से लगेगी कोविड वैक्‍सीन, चल रहीं तैयारी

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। विश्‍वभर में फैली महामारी कोविड-19 को रोकने के लिए वैक्‍सीनेशन की शुरुआत होने वाली है। प्रदेश में 16 जनवरी से टीकाकरण शुरू...

लखीमपुर-खीरी: परंपरागत खेती को छोड़कर नए तरीके से शुरू की खेती, छू रहे नई ऊंचाई

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के खीरी जिले के पलिया इलाके के किसानों ने परंपरागत खेती छोड़कर नए तरीके से खेती शुरू की है। भारत-नेपाल...

बरेलीः पिटाई के बाद पुलिसकर्मियों ने युवक के मुंह में जूता घुसेड़ा, वायरल वीडियो पर क्या  बोले एसपी देहात

न्यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के बरेली में खाकी पर दाग लगा है। इसको लेकर पुलिस का एक वीडियो वायरल हो रहा है। आरोप है...