आगरा में बच्चों ने किया कुछ ऐसा कि चार घंटे तक दौड़ती रही पुलिस 

आगरा। हैलो… जल्‍दी आ जाइए जिला अस्‍पताल में बम (bomb) है…। 112 नंबर पर आई इस सूचना के बाद थाना रकाबगंज (Rakabganj) में हड़कंप मचा गया। आनन-फानन में पुलिसकर्मी अस्‍पताल (hospital) पहुंचे और जांच (investigation) शुरू की। चार घंटे तक पुलिसकर्मी परेशान होते रहे लेकिन बम का कहीं पता नहीं चला।

तलाशी अभियान के बाद पूरी तरह संतुष्‍ट होने पर पुलिस ने कॉल की जांच शुरू की तो पता चला कि किसी बच्‍चे ने कॉल की थी। पुलिस बच्‍चे के घर पहुंच गई तो जानकारी हुई कि बच्‍चों ने मजे-मजे में 112 को फोन कर फर्जी सूचना दे दी। जब इसकी जानकारी बच्‍चों के पिता को हुई तो उनके होश उड़ गए। पुलिस के अनुसार परिजनों के माफी मांगने पर बच्‍चों को हिदायत देकर छोड़ दिया गया।

कमिश्‍नर, एसएसपी और आतंकवादी का कर रहे थे खेल
पुलिस (police) के अनुसार बच्‍चों से जब प्‍यार से बात की गई तो उन्‍होंने बताया कि एक बच्चा पुलिस कमिश्नर, एक एसएसपी और एक बच्चा आतंकवादी बनकर खेल रहे थे। इसी दौरान उनके दिमाग में खुराफात सूझी और पिता के फोन से 112 नंबर पर बम होने की सूचना (information) दे दी।

उत्तराखंड की बड़ी खबरें