आईएमएफ की शर्तो पर राजनीतिक पूंजी कुर्बान करने को तैयार शहबाज

इस्लामाबाद, 25 जनवरी (आईएएनएस)। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने संकेत दिया है कि सरकार अंतत: ऋण कार्यक्रम को पुनर्जीवित करने के लिए अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) की कड़ी शर्तो की कड़वी गोली निगलने के लिए तैयार है।
 | 
इस्लामाबाद, 25 जनवरी (आईएएनएस)। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने संकेत दिया है कि सरकार अंतत: ऋण कार्यक्रम को पुनर्जीवित करने के लिए अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) की कड़ी शर्तो की कड़वी गोली निगलने के लिए तैयार है।

डॉन न्यूज ने शरीफ के हवाले से कहा कि सत्तारूढ़ पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (पीडीएम) गठबंधन देश की खातिर अपने राजनीतिक करियर का त्याग करने के लिए तैयार है।

प्रीमियर ने कहा कि सरकार ने स्पष्ट रूप से आईएमएफ को नौवीं समीक्षा पूरी करने के अपने इरादे से अवगत करा दिया है।

उन्होंने कहा, हम तैयार हैं और आपकी (आईएमएफ की) शर्तों के संबंध में बैठना चाहते हैं ताकि (समीक्षा) पूरी की जा सके और पाकिस्तान आगे बढ़े।

मैंने दो सप्ताह पहले आईएमएफ के प्रबंध निदेशक से बात की थी और हमने सक्रिय रूप से उनसे संपर्क किया है..ताकि कार्यक्रम आगे बढ़े।

chaitanya

डॉन की रिपोर्ट के मुताबिक, उन्होंने कहा कि पाकिस्तान को स्पष्ट संदेश दिया गया है कि आईएमएफ कार्यक्रम को आगे बढ़ाना चाहिए।

यह उन रिपोटरें का एक स्पष्ट संदर्भ था कि मित्र राष्ट्र और अन्य वैश्विक उधार देने वाले संस्थान पाकिस्तान को वित्तीय सहायता प्रदान करने के कार्यक्रम के भाग्य को देख रहे हैं।

chaitanya

जैसे-जैसे आर्थिक संकट गहराता जा रहा है, इस्लामाबाद आईएमएफ को समीक्षा पूरी करने के लिए राजी करने के लिए जोर-शोर से प्रयास कर रहा है (सितंबर 2022 से लंबित) जिसके बाद धन जारी किया जाएगा।

डॉन ने बताया कि हालांकि, इस कदम से जुड़े तार वैश्विक ऋणदाता और पाकिस्तान के बीच एक महत्वपूर्ण बिंदु रहे हैं।

--आईएएनएस

एसकेके/एसकेपी